कन्या सुमंगला योजना Kanya Sumangala Yojana: 15 की जगह अब हर साल मिलेंगे 25 हजार रुपये

Mukhyamantri Kanya Sumangala Yojana

Table of Contents

कन्या सुमंगला योजना (Kanya Sumangala Yojana) उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई एक सरकारी योजना है जो उपनिवेशगणों की बेटियों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के उद्देश्य से महिलाओं और बालिकाओं के विकास को प्रोत्साहित करती है। इस योजना के अंतर्गत, उपनिवेशगणों में जन्म से लेकर पढ़ाई तक की बेटियों को वित्तीय सहायता दी जाती है, जिससे उनका शिक्षा में सक्रिय योगदान और स्वावलंबन सुनिश्चित होता है। इस योजना के तहत, उपनिवेशगणों की बेटियां बिना किसी वित्तीय तंत्र के विद्यालयों में पढ़ाई कर सकती हैं और अपनी स्वतंत्र और स्ववलंबी जीवन जी सकती हैं। इस लेख में, हम कन्या सुमंगला योजना के बारे में विस्तार से जानेंगे, जैसे कि योजना का लक्ष्य, योजना के लाभ, पात्रता मानदंड, और आवेदन प्रक्रिया।

कन्या सुमंगला योजना (Kanya Sumangala Yojana) का मुख्य उद्देश्य उत्तर प्रदेश राज्य में बालिकाओं के विकास में सक्रिय योगदान प्रदान करना है और उनके स्वावलंबन को प्रोत्साहित करना है। इसके अलावा, इस योजना का उद्देश्य निम्नलिखित है:

  1. बालिकाओं की स्वास्थ्य देखभाल: योजना के अंतर्गत, उपनिवेशगणों की बालिकाएं नियमित चेकअप, टीकाकरण, और आवश्यक चिकित्सा सुविधाओं का लाभ उठा सकती हैं। यह उनके स्वास्थ्य सुनिश्चित करने में मदद करेगा।
  2. शिक्षा का प्रोत्साहन: कन्या सुमंगला योजना के तहत, कन्याओं को उनकी पढ़ाई के लिए वित्तीय सहायता मिलती है। इससे उन्हें अधिक संभावित होता है कि वे अच्छी शिक्षा प्राप्त करें और अपने और राष्ट्रीय विकास में योगदान दें।
  3. बेटियों की सामाजिक, आर्थिक और पारिवारिक सुरक्षा: कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत, उपनिवेशगणों की बालिकाओं को आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है जो उनकी सामाजिक, आर्थिक, और पारिवारिक सुरक्षा को सुनिश्चित करने में मदद करती है।
  4. बालिकाओं के सशक्तिकरण: इस योजना का उद्देश्य बालिकाओं को शिक्षित, स्वावलंबी, और सशक्त बनाना है। इसके तहत, वित्तीय सहायता के साथ उन्हें स्वतंत्रता और मुक्तिप्राप्ति मिलती है, जिससे उन्हें उच्च शिक्षा और विभिन्न मौलिक अवसर मिलते हैं।

कन्या सुमंगला योजना (Kanya Sumangala Yojana) के अंतर्गत निम्नलिखित लाभ प्रदान किए जाते हैं:

  1. वित्तीय सहायता: योजना में सभी उपनिवेशों की कन्याओं को वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। इससे उन्हें अपने उच्च शिक्षा और करियर की खर्च पर ध्यान केंद्रित करने का मौका मिलता है।
  2. स्वास्थ्य देखभाल: योजना के अनुसार, सभी बालिकाएं नियमित चेकअप और टीकाकरण सुविधाओं का लाभ ले सकती हैं। इसके अलावा, यह उन्हें नियमित चिकित्सा सुविधाएं प्रदान करके उनके स्वास्थ्य का ध्यान रखने में मदद करता है।
  3. पढ़ाई के लिए सहायता: कन्या सुमंगला योजना में कार्यक्रम के अनुसार, उपनिवेशगणों की कन्याएं वित्तीय सहायता के रूप में धनराशि प्राप्त करती हैं, जिसे वे अपनी पढ़ाई में खर्च कर सकती हैं। इससे उन्हें अधिक संभावित होता है कि वे उच्च शिक्षा प्राप्त करें और अपनी करियर में अग्रसर हों।
  4. सामाजिक, आर्थिक और पारिवारिक सुरक्षा: योजना के अंतर्गत उपनिवेशगणों की बालिकाएं आर्थिक सहायता प्राप्त करती हैं, जिससे उनकी सामाजिक, आर्थिक, और पारिवारिक सुरक्षा सुनिश्चित होती है। इससे उन्हें समाज में सम्मान प्राप्त होने का मौका मिलता है।

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही कन्या सुमंगला योजना के तहत बेटियों के जन्म से लेकर उच्च शिक्षा तक की पढ़ाई के खर्च के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। इस योजना के तहत कुल 6 श्रेणियाँ हैं, जिनके अनुसार बेटियों को अलग-अलग राशि प्रदान की जाती है।

कन्या सुमंगला योजना 2024 की 6 श्रेणियाँ इस प्रकार हैं:

  • श्रेणी 1: बेटी के जन्म के समय ₹5,000 की राशि प्रदान की जाती है।
  • श्रेणी 2: बेटी के 1 साल की आयु पूरी होने पर ₹2,000 की राशि प्रदान की जाती है।
  • श्रेणी 3: बेटी के पहली कक्षा में प्रवेश लेने पर ₹3,000 की राशि प्रदान की जाती है।
  • श्रेणी 4: बेटी के 6वीं कक्षा में प्रवेश लेने पर ₹3,000 की राशि प्रदान की जाती है।
  • श्रेणी 5: बेटी के 9वीं कक्षा में प्रवेश लेने पर ₹5,000 की राशि प्रदान की जाती है।
  • श्रेणी 6: बेटी के स्नातक या डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स करने पर ₹7,000 की राशि प्रदान की जाती है।
किश्तदी जाने वाली धनराशि
कन्या के जन्म के समय₹5,000
कन्या के टीकाकरण होने पर₹2,000
कन्या के पहली कक्षा में प्रवेश लेने पर₹3,000
कन्या के 6वीं कक्षा में प्रवेश लेने पर₹3,000
कन्या के 9वीं कक्षा में प्रवेश लेने पर₹5,000
कन्या के स्नातक या डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स करने पर₹7,000

कन्या सुमंगला योजना के तहत निम्नलिखित पात्रता मानदंड (Eligibility Criteria) हैं:

  1. नागरिकता: योजना के लाभ के लिए आवेदकों का भारतीय नागरिक होना आवश्यक है।
  2. उम्र सीमा: योजना के तहत आवेदक की उम्र 1 अप्रैल 2019 के बाद जन्मी बालिकाएं होनी चाहिए।
  3. उत्तर प्रदेश में आवास: योजना के लाभ के लिए आवेदक का उत्तर प्रदेश राज्य में आवास होना आवश्यक है।
  4. वार्षिक आय: लाभार्थी परिवार की वार्षिक आय ₹3,00,000 से कम होनी चाहिए।
  5. लाभार्थी परिवार में अधिकतम दो बच्चे होने चाहिए।

विशेष मामलों में पात्रता मानदंड में छूट:

  • अनाथ बच्चियों के लिए परिवार की वार्षिक आय सीमा ₹3,00,000 से अधिक होने पर भी योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • यदि किसी परिवार में जुड़वां बेटियां हों तो दोनों बेटियों को योजना का लाभ अलग-अलग दिया जाएगा।

कन्या सुमंगला योजना का लाभ उठाने के लिए आवश्यक दस्तावेज इस प्रकार हैं:

आवेदक पंजीकरण के दौरान दस्तावेज़:

❖ पता प्रमाण – स्कैन कॉपी
❖ पहचान प्रमाण
❖ वोटर आईडी – स्कैन कॉपी (वैकल्पिक)
❖ बैंक खाता नंबर और पासबुक स्कैन कॉपी (माता-पिता या अभिभावक या खुद)
❖ मृत्यु प्रमाण पत्र (माता या पिता के जीवित न होने की स्थिति में)

योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन के दौरान दस्तावेज़:

❖ नवीनतम बालिका फोटो
❖ शपथ पत्र प्रमाण पत्र
❖ संयुक्त परिवार फोटो

चरण-1 के लिए आवश्यक दस्तावेज़

  1. बच्ची की ताजा फोटो.
  2. आवेदक के साथ बालिका का संयुक्त फोटो।
  3. निर्धारित प्रारूप पर शपथ पत्र।
  4. जन्म प्रमाण पत्र.

चरण – 2 के लिए आवश्यक दस्तावेज़

  1. बच्ची की ताजा फोटो.
  2. आवेदक के साथ बालिका का संयुक्त फोटो।
  3. निर्धारित प्रारूप पर शपथ पत्र।
  4. टीकाकरण कार्ड.

चरण – 3 के लिए आवश्यक दस्तावेज़

  1. बच्ची की ताजा फोटो.
  2. आवेदक के साथ बालिका का संयुक्त फोटो।
  3. निर्धारित प्रारूप पर शपथ पत्र।
  4. कक्षा 1 के लिए प्रवेश प्रमाण पत्र।
  5. आधार कार्ड की स्कैन की हुई कॉपी (वैकल्पिक)।

चरण-4 के लिए आवश्यक दस्तावेज़

  1. बच्ची की ताजा फोटो.
  2. आवेदक के साथ बालिका का संयुक्त फोटो।
  3. निर्धारित प्रारूप पर शपथ पत्र।
  4. कक्षा 6वीं के लिए प्रवेश प्रमाण पत्र।
  5. आधार कार्ड की स्कैन की हुई कॉपी (वैकल्पिक)।

चरण – 5 के लिए आवश्यक दस्तावेज़

  1. बच्ची की ताजा फोटो.
  2. आवेदक के साथ बालिका का संयुक्त फोटो।
  3. निर्धारित प्रारूप पर शपथ पत्र।
  4. कक्षा 9वीं के लिए प्रवेश प्रमाण पत्र।
  5. आधार कार्ड की स्कैन की हुई कॉपी (वैकल्पिक)।

चरण – 6 के लिए आवश्यक दस्तावेज़

  1. बच्ची की ताजा फोटो.
  2. आवेदक के साथ बालिका का संयुक्त फोटो।
  3. निर्धारित प्रारूप पर शपथ पत्र।
  4. 10वीं/12वीं सर्टिफिकेट/मार्कशीट।
  5. संस्थान की आईडी.
  6. डिग्री/डिप्लोमा पाठ्यक्रम में प्रवेश शुल्क रसीद।
  7. आधार कार्ड की स्कैन की हुई कॉपी (वैकल्पिक)।

कन्या सुमंगला योजना (Kanya Sumangala Yojana) के लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदनकर्ता निम्नलिखित प्रक्रिया का पालन कर सकते हैं:

1. आवश्यक दस्तावेज तैयार करें:

सबसे पहले, आपको कन्या सुमंगला योजना का लाभ उठाने के लिए आवश्यक दस्तावेजों की स्कैन कॉपी तैयार करनी होगी। इन दस्तावेजों में बेटी का जन्म प्रमाण पत्र, माता-पिता का पहचान पत्र, परिवार की आय का प्रमाण पत्र और बेटी के स्कूल का प्रवेश पत्र शामिल हैं।

2. महिला एवं बाल विकास विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं:

अब, आपको महिला एवं बाल विकास विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। वेबसाइट का पता https://mksy.up.gov.in/ है।

MKSY Official Website

3. “नागरिक सेवा पोर्टल” पर क्लिक करें:

वेबसाइट पर पहुंचने के बाद, आपको “नागरिक सेवा पोर्टल” पर क्लिक करना होगा।

Kanya Sumangla Yojana : नागरिक सेवा पोर्टल

4. “नया उपयोगकर्ता पंजीकरण” पर क्लिक करें:

“नागरिक सेवा पोर्टल” पर क्लिक करने के बाद, आपको “नया उपयोगकर्ता पंजीकरण” पर क्लिक करना होगा।

5. आवश्यक जानकारी भरें:

“नया उपयोगकर्ता पंजीकरण” पर क्लिक करने के बाद, आपको एक फॉर्म दिखाई देगा। इस फॉर्म में आपको अपनी व्यक्तिगत जानकारी, जैसे नाम, पता, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी आदि भरनी होगी।

6. “साइन अप” पर क्लिक करें:

फॉर्म में सभी जानकारी भरने के बाद, आपको “साइन अप” पर क्लिक करना होगा।

7. लॉग इन करें:

“साइन अप” पर क्लिक करने के बाद, आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा। आपको इस ओटीपी को दर्ज करना होगा और “लॉग इन” पर क्लिक करना होगा।

8. “कन्या सुमंगला योजना” पर क्लिक करें:

“लॉग इन” करने के बाद, आपको “कन्या सुमंगला योजना” पर क्लिक करना होगा।

9. “नया आवेदन” पर क्लिक करें:

“कन्या सुमंगला योजना” पर क्लिक करने के बाद, आपको “नया आवेदन” पर क्लिक करना होगा।

10. आवश्यक जानकारी भरें:

“नया आवेदन” पर क्लिक करने के बाद, आपको एक फॉर्म दिखाई देगा। इस फॉर्म में आपको बेटी और परिवार से संबंधित जानकारी भरनी होगी।

Mukhyamantri Kanya Sumangala Yojana Online Registration Process

11. आवश्यक दस्तावेज अपलोड करें:

फॉर्म में सभी जानकारी भरने के बाद, आपको आवश्यक दस्तावेज अपलोड करने होंगे। दस्तावेजों को स्कैन करके अपलोड करना होगा।

12. “आवेदन सबमिट करें” पर क्लिक करें:

दस्तावेज अपलोड करने के बाद, आपको “आवेदन सबमिट करें” पर क्लिक करना होगा।

13. आवेदन की स्थिति की जांच करें:

आवेदन सबमिट करने के बाद, आप अपनी आवेदन की स्थिति की जांच कर सकते हैं। आवेदन की स्थिति की जांच करने के लिए, आपको “आवेदन की स्थिति” पर क्लिक करना होगा।

1. आवश्यक दस्तावेज तैयार करें।

कन्या सुमंगला योजना का लाभ उठाने के लिए आवश्यक दस्तावेजों की सूची ऊपर दी गई है। इन सभी दस्तावेजों को अच्छी तरह से तैयार कर लें।

2. आवेदन पत्र प्राप्त करें।

आप अपने जिले के महिला एवं बाल विकास विभाग से आवेदन पत्र प्राप्त कर सकते हैं। आप महिला एवं बाल विकास विभाग की आधिकारिक वेबसाइट से भी आवेदन पत्र डाउनलोड कर सकते हैं।

3. आवेदन पत्र भरें।

आवेदन पत्र में सभी आवश्यक जानकारी सही-सही भरें। आवेदन पत्र में भरी गई जानकारी का सत्यापन किया जाएगा।

4. आवेदन पत्र पर आवश्यक दस्तावेज संलग्न करें।

आवेदन पत्र पर सभी आवश्यक दस्तावेज संलग्न करें। दस्तावेजों को आवेदन पत्र के साथ अच्छी तरह से बांध लें।

5. आवेदन पत्र को संबंधित अधिकारी को जमा करें।

आवेदन पत्र को अपने जिले के महिला एवं बाल विकास विभाग के संबंधित अधिकारी को जमा करें।

आवेदन पत्र जमा करने की प्रक्रिया निम्नलिखित है:

  • सबसे पहले, आपको अपने जिले के महिला एवं बाल विकास विभाग के कार्यालय में जाना होगा।
  • कार्यालय में पहुंचने पर, आपको संबंधित अधिकारी से मिलना होगा।
  • आवेदन पत्र जमा करने के लिए, आपको संबंधित अधिकारी को आवेदन पत्र और आवश्यक दस्तावेज देने होंगे।
  • आवेदन पत्र जमा करने के बाद, अधिकारी आपको एक रसीद देगा।

आवेदन पत्र की जांच के बाद, आपको योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।

आवेदन पत्र जमा करने के समय निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें:

  • आवेदन पत्र को समय पर जमा करें।
  • आवेदन पत्र में सभी आवश्यक जानकारी सही-सही भरें।
  • आवेदन पत्र पर आवश्यक दस्तावेज संलग्न करें।
  • आवेदन पत्र को संबंधित अधिकारी को व्यक्तिगत रूप से जमा करें।

Kanya Sumangala Yojana सर्वे में हिस्सा लेने की प्रक्रिया निम्नलिखित है:

1. महिला एवं बाल विकास विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।

2. “सर्वे” विकल्प पर क्लिक करें।

3. सर्वे फॉर्म भरें और सबमिट करें।

सर्वे फॉर्म भरने की प्रक्रिया निम्नलिखित है:

  • सबसे पहले, आपको महिला एवं बाल विकास विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। वेबसाइट का पता https://mksy.up.gov.in/https://mksy.up.gov.in/ है।
  • वेबसाइट पर पहुंचने के बाद, आपको “सर्वे” विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • “सर्वे” विकल्प पर क्लिक करने के बाद, आपको एक फॉर्म दिखाई देगा।
  • इस फॉर्म में आपको अपनी व्यक्तिगत जानकारी, जैसे नाम, पता, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी आदि भरनी होगी।
  • आपको यह भी बताना होगा कि आप किस योजना के बारे में सर्वे में हिस्सा लेना चाहते हैं।
  • फॉर्म में सभी जानकारी भरने के बाद, आपको “सबमिट” पर क्लिक करना होगा।

सर्वे फॉर्म भरने के बाद, आपका सर्वे फॉर्म महिला एवं बाल विकास विभाग को भेज दिया जाएगा। विभाग आपके सर्वे फॉर्म की जांच करेगा और आपको सर्वे के परिणामों के बारे में सूचित करेगा।

सभी जिलों की कन्या सुमंगला योजना आवेदन सूची देखने की प्रक्रिया निम्नलिखित है:

1. महिला एवं बाल विकास विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।

2. “नागरिक सेवा पोर्टल” पर क्लिक करें।

3. “कन्या सुमंगला योजना” पर क्लिक करें।

4. “एप्लीकेशन लिस्ट” पर क्लिक करें।

5. जिले का चयन करें।

6. “लिस्ट देखें” पर क्लिक करें।

  1. Kanya Sumangala Yojana क्या है?

    Kanya Sumangala Yojana उत्तर प्रदेश में बालिकाओं के विकास को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से शुरू की गई एक सरकारी योजना है। इसके अंतर्गत, बालिकाओं को वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है, जिससे उनकी शिक्षा में सक्रिय योगदान और स्वावलंबन सुनिश्चित होता है।

  2. कन्या सुमंगला योजना (Kanya Sumangala Yojana) के लाभ क्या हैं?

    Kanya Sumangala Yojana के तहत बालिकाओं को वित्तीय सहायता प्राप्त होती है, जिससे उन्हें उच्च शिक्षा और करियर की खर्च पर ध्यान केंद्रित करने का मौका मिलता है। इसके अलावा, यह उन्हें नियमित चिकित्सा सुविधाएं और सामाजिक सुरक्षा प्रदान करती है।

  3. कन्या सुमंगला योजना (Kanya Sumangala Yojana) के लिए आवेदन कैसे करें?

    कन्या सुमंगला योजना के लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदकों को उत्तर प्रदेश सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा। वहां पर आवेदकों को अपनी विवरण भरने के बाद पंजीकरण संख्या प्राप्त होगी। इसके बाद, आवेदनकर्तों को आवश्यक दस्तावेजों की प्रमाणित प्रतियां भेजनी होगी।

  4. कन्या सुमंगला योजना (Kanya Sumangala Yojana) कौन कौन सी बालिकाएं पात्र हैं?

    कन्या सुमंगला योजना के तहत वह सभी बालिकाएं पात्र हैं जिनका जन्म 1 अप्रैल 2019 के बाद हुआ है और जो उत्तर प्रदेश राज्य में आवास करती हैं।

Read More

Leave a Comment

11 unknown but interesting facts about Swami Vivekananda Vivek Ramaswamy: An Extraordinary Journey of Success and Entrepreneurship GSSSB CCE Clerk Recruitment 2024 Avoid Committing these 10 Mistakes in JEE Mains 2024 Exam DSSSB Jobs 2023: 108 ऑफिसर पदों पर निकली भर्तियां